Sale!

The Oath of the Vayuputras – Hindi Edition

399.00

  • 100% Quality Guaranteed
  • 100% Cash on Delivery
  • Easy Return & Replacement
  • 100% Safe & Secure
  • All payment modes acceptable

Out of stock

Description

शिव अपनी शक्तियां जुटा रहा है। वह नागाओं की राजधानी पंचवटी पहुंचता है और अंततः बुराई का रहस्य सामने आता है। नीलकंठ अपने वास्तविक शत्रु के विरुद्ध धर्म युद्ध की तैयारी करता है। एक ऐसा शत्रु जिसका नाम सुनते ही बड़े से बड़ा योद्धा थर्रा जाता है। एक के बाद एक होने वाले नृशंस युद्ध से भारतवर्ष की चेतना दहल उठती है। ये युद्ध भारत पर हावी होने के षड्यंत्र हैं। इनमें अनेक लोग मारे जाएंगे। लेकिन शिव असफल नहीं हो सकता, चाहे जो भी मूल्य चुकाना पड़े। अपने साहस से वह वायुपुत्रों तक पहुंचता है, जो अब तक उसे अपनाने को तैयार नहीं थे।

क्या वह सफल हो पाएगा? और बुराई से लड़ने का क्या मूल्य चुकाना पड़ेगा? भारतवर्ष को? और शिव की आत्मा को?

बेस्टसेलिंग शिव रचना त्रयी की अंतिम कड़ी सारे राज़ खोलेगी।

About the Author

आई. आई. एम. (कोलकाता) से प्रशिक्षित, 1974 में जन्मे अमीश ने एक बोरिंग बैंकर से एक सफल लेखक का लम्बा सफ़र तय किया है। अपने पहले उपन्यास मेलूहा के मृत्युंजय (शिव रचना त्रयी का प्रथम भाग) की अपार सफलता से प्रोत्साहित होकर आप फ़ाइनेंशियल सर्विस का चौदह साल का कैरियर छोड़ कर लेखन क्षेत्र में आ गये। इतिहास, पौराणिक कथाओं एवं दर्शन के प्रति आपके रुझान ने आपको विश्व के सभी धर्मों और उनके अर्थ को समझने के लिए प्रेरित किया। अमीश की पुस्तकों की पचपन लाख से अधिक प्रतियाँ बिक चुकी हैं और उनका उन्नीस से अधिक भाषाओं में अनुवाद हो चुका है।

Product details

  • Publisher ‏ : ‎ Westland
  • Language ‏ : ‎ Hindi
  • Pages‏ : ‎ 552
  • Edition : 2013
  • Author : Amish Tripathi
  • Binding : Paperback 
  • ISBN-10 ‏ : ‎ 9383260009
  • ISBN-13 ‏ : ‎ 978-9383260003
  • Item Weight ‏ : ‎ 350 g

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “The Oath of the Vayuputras – Hindi Edition”

Your email address will not be published. Required fields are marked *